पूरा देश कोराना वायरस के ख़ात्मे के लिए अपने-अपने तरीके से सहयोग कर रहे है। वहीं आकांक्षी जिले में शामिल नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले की सरकारी, गैरसरकारी कर्मचारी, कामकाजी महिलाओं के साथ स्वसहायता समूह की महिलाएं तो आगे थी, लेकिन अब घरेलू महिलाएं भी आगे आ गयी हैं। कलेक्टर श्री पी.एस. एल्मा को आज कलेक्टोरेट में मांझीपारा की सुश्री मुक्ता और भारती नाग ने अपनी घरेलू बचत से 21,850 रूपए की नकद राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष के लिए सौंपी। कलेक्टर श्री एल्मा ने उनके इस सहयोग के लिए जमकर प्रसन्नता व्यक्त की। अब तक मुख्यमंत्री सहायता कोष में चार लाख से ज्यादा राशि के चेक मिले हैं। जिन्हें मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा किया गया है। 

नगरीय और ग्रामीण ईलाके की कुछ घरेलू महिलाएं जरूरतमंदों को रियूजेबल मास्क बनाकर मुफ्त बांट रही है। कलेक्टर ने हाल ही में दीनदयाल कॉलोनी की घरेलू महिलाओं और समूह की ग्रामीण महिलाएं जो रियूजेबल मास्क एवं रोज़ काम आने वाली चीजें साबुन आदि बना रही है उनसे कहा कि वे इन्हें बनाकर जिला पंचायत नारायणपुर को दें। उन्हें मास्क और बनाई गई सामग्रियों का वाजिब भुगतान भी किया जाएगा। कलेक्टर ने उन महिला सफाई कर्मियों की भी तारीफ की जो रोज सुबह डोर-टू-डोर कचरा लेकर उनमें से मास्क आदि हानिकारण चीजों को उचित ढंग से नष्ट करने में अपनी महती भूमिका निभा रही है। उन्होंने स्वास्थ्य अमले के साथ ही उन महिला अधिकारी-कर्मचारियों के काम की सराहना की जो होम होम आईसोलेशन में रखे व्यक्तियों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण और उन पर लगातार नजर बनाये हुए है ।