भोपाल : कुंवर विजय शाह ने मंगलवार को मंत्रालय में वन मंत्री के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। उन्होंने कहा कि शासन वन ग्रामवासियों की समस्याओं का निराकरण करने के साथ उनको विकसित जीवन शैली से जोड़ने का प्रयास करेगा। श्री शाह ने सिवनी जिले के पेंच अभयारण्य के कर्माझिरी वन ग्रामवासियों के विस्थापन से संबंधित नस्ती पर हस्ताक्षर करने के दौरान विस्थापन कार्यवाही की विस्तृत जानकारी ली। प्रमुख वन सचिव श्री अशोक वर्णवाल और प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री राजेश श्रीवास्तव भी उपस्थित थे।

वन मंत्री श्री कुंवर विजय शाह ने कहा कि प्रदेश के वन ग्रामों में रहने वाले लोग बेहतर जीवनयापन कर सके, इस दिशा में सार्थक पहल की गई है। प्रदेश के वन, वन्यप्राणी और वनवासियों को सुरक्षित रखने के हरसंभव प्रयास किये जायेंगे। नेशनल पार्क में बसे वनवासियों को अन्य ग्रामों में पुन: स्थापित कर इन्हें विकास की मुख्यधारा से जोड़ा जायेगा। विस्थापन से इन्हें रोजगार के साथ बुनियादी सुविधाएँ भी मिलने लगेंगी। मंत्री श्री शाह ने कहा कि वर्ष 2016 से 2018 के मध्य किये गये अथक प्रयासों का परिणाम है कि मध्यप्रदेश को एक बार फिर टाईगर स्टेट का दर्जा मिला है।