वाशिंगटन । कोरोना का केंद्र बने अमेरिका में दोबारा अर्थव्यवस्था खुलने से विशेषज्ञों की टेंशन बढ़ गई है। अमेरिका के कई राज्यों में अर्थव्यवस्था खोलने को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि अगर इसके कारण कोरोना के मामले बढ़ते हैं तो यह स्पष्ट होने में कई सप्ताह लग सकते हैं। विशेषज्ञों का मामना है कि पूरे देश में कोविड-19 संक्रमण की स्थिति अलग-अलग है। कुछ स्थानों पर मामले बढ़ रहे हैं तो कुछ स्थानों पर मामले घट रहे हैं। इसके अलावा संक्रमण नाटकीय रूप से कई स्थानों पर इधर-उधर हो सकता है।
जानकारों ने कहा,चुनौती यह है कि हमारा ध्यान राष्ट्रीय आंकड़ों पर केंद्रित है जबकि हम यह देख रहे हैं कि 50 विभिन्न स्थानों पर 50 अलग-अलग आंकड़ें हैं। कुछ राज्यों ने दो सप्ताह बाद ही बंद में रियायत देना शुरू कर दिया था। टेक्सास में शॉपिग मॉल खुलने शुरू हो गए, दक्षिण कैरोलाइना में समुद्र तट पर स्थित होटलों को खोला गया और वायोमिंग में जिम तक खोल दिए गए। जॉर्जिया देश का ऐसा पहला राज्य बना जहां कुछ कारोबारों के दरवाजे खोले गए। जैसा कि हमने शुरुआत में देखा कि कोविड-19 महामारी धीरे-धीरे शुरू होती है और यह कुछ समय अपना पांव जमाने में लेती है और फिर प्रत्यक्ष तौर पर इसका असर दिखने लगता है। इसी बीच जिनेवा में विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक शीर्ष अधिकारी ने आगाह किया है कि हो सकता है कि नया कोरोना वायरस यहां रहने के लिए आया है।