सिडनी । ऑस्ट्रेलिया के अनुभवी बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने कहा है कि वह आउट होने से बचने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाते रहे हैं। स्मिथ ने कहा कि इसके लिए वह आम तौर पर ऑफ स्टंप की लाइन में या उससे बाहर खड़े होते हैं। उनकी बल्लेबाजी की तकनीक परंपरागत तरीके से अलग है जिसको समझने में अधिकतर गेंदबाज नाकाम रहे हैं। स्मिथ ने बल्लेबाजी के लिए खड़े होने के तरीके पर कहा, ‘यह इस पर निर्भर करता है कि कौन गेंदबाजी कर रहा है, विकेट कैसा है, मुझे किस तरह से रन बनाने हैं और गेंदबाज मुझे किस तरह से आउट करना चाहते हैं। इससे मैं तय करता हूं कि मुझे अपना विकेट कैसे बचाना है।’
उन्होंने कहा, ‘लेकिन मैं आमतौर पर ऐसे खड़ा होता हूं जिससे मेरा बैकफुट ऑफ स्टंप की लाइन में होता है और कुछ अवसरों पर तो उससे भी बाहर। इससे मैं जानता हूं कि कोई भी गेंद जो मेरी नजर से बाहर की तरफ जा रही हो, वह मेरे स्टंप पर नहीं लगेगी।’ स्मिथ ने कहा, ‘मेरा मानना है कि अगर गेंद स्टंप की सीध में नहीं हो तो आपको आउट नहीं होना चाहिए। जब मैंने ऐसा कदम उठाना शुरू किया तो यह मेरी एक चाल थी। यह आउट होने के तरीकों को कम करने के लिए था।’ इस 30 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा कि ऑफ स्टंप से बाहर होने से उन्हें बाहर जाने वाली गेंदों को छोड़ने में मदद मिलती है। उन्होंने कहा, ‘कई बार मैं विकेटों के आगे एलबीडब्ल्यू आउट हो जाता हूं, लेकिन मुझे यह मंजूर है क्योंकि मैं जानता हूं कि अगर यह मेरी नजर की सीध से बाहर की तरफ जा रही होती तो फिर मुझे इसे खेलने की जरूरत नहीं पड़ती। मैं इसे केवल छोड़ सकता था।’ स्मिथ टीम के सबसे अनुभवी बल्लेबाज हैं और उनका रिकार्ड शानदार रहा है। स्मिथ ने अभी तक 73 टेस्ट मैचों में 7227 रन बनाये हैं। इसके अलावा उनके नाम पर एकदिवसीय में 4162 रन भी दर्ज है।