कोलकाता । भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने कहा है कि टूर्नामेंटों को शुरु करने के पहले अभ्यास सत्र शुरु हो जाना चाहिये। कोरोना वायरस का प्रकोप कम होने के बाद विश्व में अब खेल मुकाबले शुरु होने लगे हैं। जर्मनी की फुटबॉल लीग बुंदेसलीगा की शुरुआत खाली स्टेडियमों में हो गयी है। इसी तरह इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) और स्पेनिश लीग भी वापसी की तैयारी कर रही है। छेत्री ने कहा यह दोनों लीग भी बिना दर्शकों के खाली स्टेडियमों में खेली जाएंगी जो निकट भविष्य में खेलों के लिए एक चलन बन सकता है। वहीं यही हाल भारतीय फुटबॉल सत्र के साथ भी हो सकता है। छेत्री ने हालांकि कहा है कि शुरुआत करने के लिए पहले जरूरी है कि पूरी तरह से अभ्यास सत्र शुरू की जाए। छेत्री ने एक कार्यक्रम में कहा, "कोरियन लीग और बुंदेसलीगा हर दिन ट्रेनिंग करने से पहले हर खिलाड़ी की जांच कर रही हैं। जब वो लोग मैच में जाते हैं उससे पहले ही उनका टेस्ट होता है और पता चल जाता है कि उनके अंदर वायरस नहीं है पर इस वायरस से संक्रमित कई लोगों में इसके लक्षण नहीं होते। इसलिए सुरक्षा की दूसरी परत की जरूरत है।"