नई दिल्ली । युवा बल्लेबाज रोबिन उथप्पा पिछले काफी समय से टीम से बाहर हैं पर उन्होंने उम्मीदें नहीं छोड़ी हैं। उथप्पा अभी एक और विश्वकप खेलना चाहते हैं। इसके साथ ही वह ‘फिनिशर’ के तौर पर टी20 टीम में वापसी करना चाहते हैं। उथप्पा एकदिवसीय विश्व कप 2007 की टीम में शामिल थे और पहले पहले टी20 विश्व कप की विजेता टीम का भी हिस्सा थे। उन्होंने भारत की तरफ से अपना आखिरी मैच जुलाई 2015 में जिम्बाब्वे दौरे में खेला था। उथप्पा ने कहा, ‘‘अभी मैं प्रतिस्पर्धी बनना चाहता हूं। अब भी मेरे अंदर यह जज्बा है। मैं वास्तव में खेलना चाहता हूं और अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं। मैं पूरी ईमानदारी से यह मानता हूं कि मैं अभी एक विश्व कप में खेल सकता हूं। इसलिए मैं इसके लिये अपने को तैयार रख रहा हूं।’’वह हालांकि जानते हैं कि इसके लिये उन्हें भाग्य की भी जरूरत पड़ेगी। उथप्पा ने कहा, ‘‘भाग्य भी आपके साथ होना चाहिए। यह अहम भूमिका निभाता है। विशेषकर भारत में इसकी भूमिका स्पष्ट होती है। विदेशों में यह बहुत अधिक महत्व नहीं रखता पर उपमहाद्वीप विशेषकर भारत में जहां इतनी अधिक प्रतिभा है, यह महत्वपूर्ण बन जाता है।’’उन्होंने कहा, ‘‘आप कभी अपने को बेकार नहीं मान सकते। विशेषकर तब जबकि आप मानते हैं कि आपके पास क्षमता है और और अवसर बन सकता है। जब ऐसा मौका है मैं क्रिकेट खेलना जारी रखूंगा। ’’उथप्पा ने कहा, ‘‘मैं अब भी मानता हूं कि चीजें मेरे अनुकूल हो सकती हैं और मैं विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा बन सकता हूं और उसमें अहम भूमिका भी निभा सकता हूं।’’